ED full form in Hindi - ई.डी क्या है ?

ED full form in Hindi – ई.डी क्या है ?

ED का फुल फॉर्म क्या है ED full form in Hindi क्या होता है ED का क्या अर्थ है ED क्या कार्य करती है पिछले कुछ वर्षों में कई हाई प्रोफाइल मामलों की जांच होने के सिलसिले में ED का नाम अक्सर सामने आता रहता है आखिर ED किन मामलों की जाँच करती है आइये जानते है |


ED full form in Hindi – ई.डी क्या है ?

ED का फुल फॉर्म “Directorate of Enforcement” या “Directorate General of Economic Enforcement” होता है और हिन्दी में इसे प्रवर्तन निदेशालय के नाम से जाना जाता है ED की स्थापना 1 मई सन् 1956 को की गई थी और यह केंद्रीय राजस्व विभाग एवं वित्त मंत्रालय के अधीन कार्य करती है इसका मुख्यालय दिल्ली है ED के 5 मुख्य कार्यालय भी हैं जो मुम्बई, चेन्नई, चंडीगढ़ कोलकाता व दिल्ली में स्थित है |

ED के 16 क्षेत्रीय कार्यालय हैं जो अहमदाबाद, बेंगलुरु, चंडीगढ़, चेन्नई, कोच्चि, दिल्ली, पणजी, गुवाहाटी, हैदराबाद, जयपुर, जालंधर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, पटना और श्रीनगर में स्थित है क्षेत्रीय कार्यालय प्रमुख को संयुक्त निदेशक कहा जाता है और 11 उप क्षेत्रीय कार्यालय है जो भुबनेश्वर, कोजीकोड, इंदौर, मदुरै, नागपुर, प्रयागराज, रायपुर, देहरादून, रांची, सूरत व शिमला में स्थित है इनके प्रमुख अधिकारी को उप-निदेशक कहा जाता है

ED के मुख्य कार्य क्या हैं ?

1. विदेशी विनिमय प्रबन्धन अधिनियम (FEMA) के अंतर्गत विदेशी मुद्रा विनिमय विधियों व नियमों के उल्लंघन की जांच करने के साथ,आरोपियों को दंड देने का अधिकार भी ED के पास ही है


2. भारत में आर्थिक अपराध एवं आर्थिक नियमों को लागू करना, काला धन जब्त करने में पुलिस की सहायता करना |

3. Prevention of Money Laundering Act PMLA 2002 धन शोधन निवारण अधिनियम के अंतर्गत आपराधिक गतिविधियों से अर्जित संपत्ति का पता लगाने हेतु जांच करना व उसके उपरांत उन संपत्तियों को जब्त करने और धन शोधन में लिप्त अपराधियों पर मुकदमा चलाने का अधिकार है

ED में सभी उच्च अधिकारियों की पदस्थापना अनिवार्यत IAS, IPS और IRS रैंक के अधिकारियों में से ही किया जाता है हम आशा करते है आपको ED full form in Hindi और ईडी क्या होता है पोस्ट पसंद आया होगा |

Read also
ED full form in Hindi - ई.डी क्या है ? ED full form in Hindi - ई.डी क्या है ? Reviewed by ADMIN on 01:35 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.