हेलीकॉप्टर का आविष्कार कैसे हुआ? Helicopter Ka Avishkar Kisne Kiya

हैलीकाप्टर एक ऐसा विमान है जो जमीन से सीधा ही हवा में ऊपर उर सकता है और सीधा ही जमीन पर उतर सकता है
,वह हवा में स्थिर भी रह सकता है, उडान के लिये इसे जमीन पर दौर लगाने की आवश्यकता नहीं होती इसे किसी हवाई अड्डे की भी जरुरत नहीं है क्या आप जानते हो ऐसा विमान कैसे बनाया गया?

15 वी शताब्दी में प्रसिद्ध वैज्ञानिक लियोनादो दा विन्सी ने एक बड़े हैलीकाप्टर का डिज़ाइन तैयार किया, लकिन उस समय मोटरों (motors) का विकास नहीं हुआ था जिसके बिना इसे कभी भी न उराया जा सका. सन १७८३ में फ़्रांस में खिलोने के रूप का हैलीकाप्टर काफी चर्चा का विषय रहा लकिन अगले सों वर्सो तक कोई भी सफल हैलीकाप्टर न बन पाया क्योकि उस समय तक हल्के वजन के इंजनों का विकास नहीं हो पाया था पहले विश्वयुद्ध में जब हल्के इंजनों का विकास हो गया तो इन इंजनों की सहायता से मनुष्य पहली बार हैलीकाप्टर द्वार उडान भरने में सफल हो पाया इसके बाद हैलीकाप्टर के विकास का काम लगातार रहा |

सन 1936 में जर्मनी की फोक्वोल्फ़ कम्पनी ने सफल हैलीकाप्टर के निर्माण की घोषणा की यह पहला है था, जो सन 1937 में ग्यारह हज़ार फुट (3352.8 मीटर) की उचाई पर 112कि.मी (70मील) प्रति घंटे की रफ़्तार से सफलता पूर्वक उड़ा |

आज तो विश्व में अनेक प्रकार के छुते-बड़े हैलीकाप्टर बन गए है जिनको दिन प्रतिदिन के कामो में प्रयोग किया जाता है विश्व का सबसे बड़ा है रूस का सोवियत” mil mi - 26 है , जिसे mi - 26 भी कहा जाता है |

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.