पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या होता है?


पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या है यह सवाल बहुत से विद्यार्थियों के मन में जरुर आता है आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की पॉलिटेक्निक क्या है, पॉलिटेक्निक कोर्स कितने दिनों का होता है, पॉलिटेक्निक एडमिशन के लिए क्या क्या जरुरी है, पॉलिटेक्निक करने के क्या फायदे है अगर आप पॉलिटेक्निक करना चाहते है तो किस विषय से करें आएये जानते है |

पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या होता है?

पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या है?

Polytechnic दो शब्दों से मिलकर बना है Poly+Technic इन शब्दों से मिलकर बना है पॉलिटेक्निक डिग्री स्तर पर या विशेष रूप से व्यावसायिक विषय में उच्च शिक्षा की पेशकश पाठ्यक्रम की एक संख्या है यह एक ऐसा इंस्टीट्यूट है जहा पर विद्यार्थी इंजिनियर बनने के लिए आते है और इंजिनियर बनने के पहली सीडी ही Polytechnic होती है |


Polytechnic करने का एक प्रोसेस होता है Polytechnic में एडमिशन लेने से पहले आपको 10 वी कक्षा पास करना अनिवार्य है और आपका माइग्रेशन सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है जो 10वी के बाद मिलता है जिसके बाद आप पॉलिटेक्निक में एडमिशन ले सकते है |

पॉलिटेक्निक कोर्स एक डिप्लोमा कोर्स है यह कोर्स 3 साल का होता है पॉलिटेक्निक में एडमिशन के बाद एक एंट्रेस एग्जाम देना पड़ता है जिसे क्लियर करने के बाद एडमिशन लिया जा सकता है यदि आप 12 वी के विद्यार्थी है तो भी आप पॉलिटेक्निक में एडमिशन ले सकते है लेकिन इसमें एक नियम होता है की 12 वी में आपके फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स होना जरुरी है ऐसे में आपका एडमिशन सीधे 2 इयर में हो जायेगा |

पॉलिटेक्निक का 3 वर्ष का कोर्स पूरा करने के बाद आप जॉब कर सकते है इसके अलावा अगर आप आगे की पढाई करना चाहते है तो बी.टेक की डिग्री प्राप्त कर सकते है और उसके बाद एम.टेक भी कर सकते है |


पॉलिटेक्निक करने के बाद आपके पास दो विकल्प होते है अगर आपने पॉलिटेक्निक कम्पलीट कर लिया है तो आपको जूनियर इंजिनियर की जॉब मिल सकती है इसके लिए कई पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट में प्लेसमेंट भी होती है पॉलिटेक्निक करने के बाद आपके पास जॉब की अपोर्चुनिटी बढ़ जाती है |

Read also
IIT full form in Hindi 
ITI full form in Hindi 
BBA full form in Hindi 
BCA full form in Hindi
पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या होता है? पॉलिटेक्निक (Polytechnic) क्या होता है? Reviewed by ADMIN on May 28, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.