RAM Full Form in Hindi – रैम क्या होती है?


RAM Full Form in Hindi

रैम क्या होती है, RAM Ka Full Form क्या है, RAM Full Form in Hindi, RAM क्या होती है, रैम का Hindi meaning क्या होता है, RAM का Computer में क्या Uses होता है RAM कितने प्रकार (Types) की होती है SRAM और DRAM की Full Form क्या है? अगर आप भी RAM के बारे में डिटेल्स में जानना चाहते है तो आप सही जगह आये है क्योकि इस पोस्ट में आपको RAM की सही जानकारी मिलेगी तो आइये जानते है RAM के बारे में |

RAM Full Form in Hindi – रैम क्या है?

RAM की इंग्लिश में Full Form “Random Access Memory” होती है तथा रैम को हिंदी में यादृच्छिक अभिगम स्मृति कहते है यह किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस का अहम हिस्सा होता है जैसा की आप जानते ही होंगे हमारा Processor या CPU की स्पीड बहुत फ़ास्ट होती है जितनी तेजी से प्रोसेसर कार्य करता है उतनी ही तेजी से Memory को भी कार्य करना जरुरी होता है अन्यथा उस तेज गति का कोई फायदा नहीं रह जाता |

RAM की स्पीड वैसे तो सिस्टम प्रोसेसर से कम होता है परन्तु हम डाटा सेकेंडरी मेमोरी (Hard Disk) में सेव होता है और सेकेंडरी मेमोरी के स्पीड काफी धीमी होती है इसलिए रैम की सहायता से जिस भी प्रोग्राम पर प्रोसेसर को कार्य करना होता है उस प्रोग्राम को रैम के अन्दर ट्रान्सफर कर दिया जाता है और प्रोसेसर आसानी से रैम से डाटा का प्रयोग कर लेता है |

जब उस प्रोग्राम का काम ख़त्म हो जाता है तब उसे वापिस Secondary Memory के अन्दर सेव कर दिया जाता है और रैम को किसी अन्य प्रोग्राम को लोड करने के लिए खाली कर दिया जाता है जिस पर प्रोसेसर को कार्य करना होता है |

इस प्रोसेस में एक बात ध्यान देने योग्य है की जितने डाटा की प्रोसेसर को जरूरत होती है उतना ही डाटा रैम के अंदर ट्रान्सफर कर के लाया जाता है बाकि का डाटा Hard Disk में सेव रहता है Ram से Hard Disk में डाटा लाने और ले जाने की प्रकिया को पेज फाल्ट कहा जाता है और जितनी अधिक RAM होगी उतने ही पेज फाल्ट कम होंगें |

जब भी हम कोई Computer, Mobile या कोई अन्य Device पर कार्य करते है तो उसमे कार्य करने के लिए RAM की अहम भूमिका होती है |

Types of RAM in Hindi – रैम कितने प्रकार के है?

RAM मुख्य दो प्रकार की होती है  
1. SDRAM (DRAM)
2. SRAM

Full form of SDRAM और SRAM
SDRAM का Full Form “Synchronous Dynamic Random Access Memory” होती है इसे डायनामिक रैम (DRAM) के नाम से भी जाना जाता है यह रैम काफी दिनों तक चलती है इसे बार बार रिफ्रेश करना पड़ता है यानि की इसे पॉवर की जरूरत होती है हालांकि इसकी स्पीड बहुत कम होती है ये बाकि रैम के मुकाबले सस्ते होते है SDRAM के प्रकार – SDR, DDR, DDR2, DDR3, DDR4, DDR5 आदि | DDR का मतलब Double Data Rate होता है |

जबकि SRAM की Full Form “Static Random Access Memory” होती है यह स्थिर रैम होती है यानि की इसमें डाटा तब तक स्टोर रहता है जब तक इसमें बिजली आती रहगी यह डाटा को बहुत तेज गति से प्रोसेस करता है ये SDRAM के मुकाबले Ram महँगे होते है और इसमें बिजली की भी खपत होती है इसे बार बार रिफ्रेश नहीं करना पड़ता और SRAM का उपयोग कंप्यूटर की Cache Memory के हिसाब से किया जाता है SRAM के प्रकार – NV-SRAM (Non-volatile SRAM), PSRAM (Pseudo SRAM) आदि |

हम आशा करते है आपको RAM Full Form in Hindi क्या होती है, रैम क्या है? तथा रैम कितने प्रकार (Types of RAM) के होते है पोस्ट पसंद आई होगी अगर आप कंप्यूटर से सम्बन्धित अन्य लेख पड़ना चाहते है तो हमारे वेबसाइट findgk.com को बुकमार्क कर लें |

RAM Full Form in Hindi – रैम क्या होती है? RAM Full Form in Hindi – रैम क्या होती है? Reviewed by ADMIN on 21:28 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.