SSL Certificate Kya Hai वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है?


हेल्लो दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले है SSL Certificate के बारे में | आखिर SSL Certificate होता क्या है यह हमारी Website के लिए क्यों जरुरी है आपने इन्टरनेट या किसी व्यक्ति से SSL Certificate के बारे में अवश्य सुना होगा पर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं मिली होगी तो कोई बात नहीं आज आपको SSL Certificate के बारे में पूरी डिटेल्स में बतायेंगे की SSL Certificate होता क्या है यह सभी Website क्यों जरुरी होता यह क्या काम करता है और SSL Certificate वेबसाइट में लग जाने से हमारी Website कितनी सुरक्षित रहती है |
SSL Certificate Kya Hai वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है?

SSL Certificate Kya Hai

SSL की फुल फॉर्म है (Secure Sockets Layer) है SSL केवल Website का एक Certificate लेयर है जो हमें यह सिग्नल देता है की हमारी वेबसाइट पूरी तरह से सुरक्षित है आज कल Google भी इस तरह की वेबसाइट को Rank में ला रही है क्योंकि गूगल हमेशा से अपने यूजर्स को सुरक्षित रखना चाहती है गूगल नहीं चाहती की उनके यूजर्स की निजी जानकारी को हानि पहुचें इसलिए गूगल उन्ही वेबसाइट को अधिक महत्व दिया है जिन्होंने अपनी वेबसाइट पर SSL Certificate लगवाया हो |


Free SSL Certificate Kaise Lagaye

आज के समय में बहुत से ऐसे वेबसाइट है जो फ्री SSL सर्टिफिकेट उपलब्ध कराती है यदि आपकी वेबसाइट ब्लॉगर पर है तो गूगल ने कुछ समय पहले अब गूगल ने अपने सभी ब्लॉगर के लिए Free SSL Certificate जारी किया है | इसके अलावा यदि आपकी वेबसाइट वर्डप्रेस पर है तो आप Cloudfare CDN का Free SSL Certificate यूज़ कर सकते है वहीँ कुछ ऐसी वेबसाइट भी है जो Paid SSL Certificate प्रोवाइड कराती है जैसे की Godaddy, Comodo, Hostgator आदि |

आज के समय में Website के लिए SSL Certificate लेना बहुत जरुरी है क्योकि SSL Certificate हमारी वेबसाइट को सुरक्षा प्रदान करती है और हमारी वेबसाइट का डाटा सुरक्षित रहता है हम आशा करते है आपको समझ में आ गया होगा की SSL Certificate क्या है और Website के लिए क्यों जरुरी है इसी तरह की पोस्ट पढने के लिए हमारे वेबसाइट के न्यूज़लैटर को आज ही सब्सक्राइब करे |
SSL Certificate Kya Hai वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है? SSL Certificate Kya Hai वेबसाइट के लिए क्यों जरुरी है? Reviewed by ADMIN on May 28, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.