दोस्तों आपने MeToo के बारें में अवश्य सुना होगा इन दिनों #MeToo शब्द की काफी चर्चा है आखिर क्या है ये मी टू कैंपेन, कैसे और कहा से शुरू हुआ आइये जानते है इस पोस्ट में |

Me Too kya hai

Me Too का अर्थ मैं भी या मेरे साथ भी होता है यह महिलाओं पर हो रही यौन उत्पीडन और शोषण के खिलाफ एक आंदोलन है #Me Too आंदोलन की शुरुआत 2006 में हुई थी करीब बारह साल पहले अमेरिका की सामाजिक कार्यकर्ता टेरेना बर्क ने खुद के साथ हुए यौन शोषण का जिक्र करते हुए मी टू शब्द का इस्तेमाल किया हालांकि मीटू शब्द बीते वर्ष अक्टूबर 2017 में प्रचलन में आया |

2017 में मीटू का बहुत बड़ा असर हॉलीवुड मेंहुआ और हॉलीवुड के प्रोडूसर हार्वी विन्सटीन के खिलाफ 30 से अधिक महिलाओं ने आरोप लगाए इसके अलावा हॉलीवुड एक्ट्रेस एलिसा मिलानो ने भी आरोप लगाए |

इसी दौरान सोशल मीडिया पर किसी ने उन्हें हेसटैग करके लिखा की वो वो #MeToo जरिये अपनी बात रखें और मिलानो ने ऐसा ही किया और 32 हजार से अधिक महिलाओं ने #MeToo का इस्तेमाल करते हुए अपनी आपबीती शेयर की |

जबकि भारत में MeToo की शुरुआत हालहिं में हुआ जब बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया एक इंटरव्यू में तनुश्री ने बताया की वर्ष 2008 में फिल्म हॉर्न ओके प्लीज़ की शूटिंग के दौरान नाना पाटेकर ने उनका यौन शोषण किया था

तनुश्री ने बताया की नाना पाटेकर उनके नजदीक आये और उन्हें गलत तरीके से चुने की कोशिश की | हालांकि नाना पाटेकर ने एक प्रेस कांफ्रेंस में सभी आरोपों का खंडन किया उन्होंने कहा की हमारे बीच ऐसा कुछ भी नहीं हुआ था अब आप समझ गए होंगे की MeToo kya hai? MeToo आंदोलन कब और कैसे शुरू हुआ?

No comments:

Powered by Blogger.