मूंगफली खाने के क्या फायदे है? Mungfali khane ke fayde aur nuksan


Mungfali khane ke fayde aur nuksan

पौष्टिक तत्वों से भरपूर मूंगफली (Peanuts) को गरीबों का बादाम कहा जाता हैक्योंकि यह सूखे मेवों से कई गुना किफायती और गुणकारी होता है | प्रोटीन का भरपूर खजाना मूंगफली में समाया होता हैसाथ ही चिकनाई और नैसर्गिक शर्करा भी मौजूद होती है | शाकाहारी व्यक्तियों के लिए प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है | 
समान मात्रा में अगर हम मूंगफली और दूध या एग ले तो इन दोनों से कई गुना ज्यादा प्रोटीन मूंगफली में पाया जाता है | 

मूंगफली का प्रोटीन दूध से मिलता जुलता होता है जबकि इसके चिकनाई घी से मिलती जुलती होती है | मूंगफली खाने से दूधबादाम और घी तीनों की पूर्ति हो जाती है | स्वादिष्ट और पौष्टिक होने के कारण यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है | मूंगफली को कच्चा या भून कर सेवन कर सकते हैं | मूंगफली से कई स्वादिष्ट व्यंजन भी बनाए जा सकते हैं मूंगफली का तेल भी स्वाद और स्वास्थ्य के लिए प्रचलित है |

मूंगफली में मौजूद पोषक तत्व

करीब 100 gm मूंगफली में 166 कैलोरीज26 gm प्रोटीन49 gm कार्बोहाइड्रेट्स14 gm फैट्स2.6 gm फाइबर्स17 mg कैल्शियम203 mg पोटैशियम111 mg फॉस्फोरस88 mg सोडियम होता है | इतने सारे पौष्टिक तत्व से युक्त मूंगफली को एक संपूर्ण आहार माना जाता है |

मूंगफली के गुण
मूंगफली यह पाचन शक्ति को बढ़ाती है और खाने में रुचिकर होती है | इसमें तेल का अंश होने से यह वातनाशक होती है पर जो कि यह थोड़ी गर्म करती है इसलिए पित्तकर होती है | इसे सर्दी के मौसम में खाना ज्यादा अच्छा रहता है |

मूंगफली खाने से क्या फायदे होते हैं ? Health benefits of eating Peanuts in Hindi

मूंगफली खाने से निचे दिए हुए स्वास्थ्य लाभ होते हैं :
  • पाचन शक्ति : मूंगफली खाने से पाचन शक्ति विकसित होती है और साथ ही भूक भी अच्छे से लगती है |
  • स्तनपान : नित्य कच्ची मूंगफली खाने से दूध पिलाने वाली माताओं में दूध की मात्रा बढ़ती है |
  • प्रेगनेंसी : सगर्भावस्था में 60 ग्राम मूंगफली नीत्य खाने से गर्भस्थ शिशु का विकास अच्छा होता है | इसमें विटामिन B 12 होता है |
  • कब्ज : रोजाना मूंगफली खाने से और दूध पीने से कब्ज की समस्या से भी राहत मिलती है |
  • कुपोषण : बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए उन्हें रोजाना मूंगफली खिलानी चाहिए | प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत होने के साथ ही इसमें मौजूद अमाइनो एसिड बच्चों के विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है |
  • श्रेष्ठ आहार : बच्चों को खास तौर पर मूंगफली खिलाने की आदत डालनी चाहिए इससे उनका पोषण भी अच्छे से होगा और वह जंक फूड खाने से भी बचेंगे | आप चाहे तो बच्चों को मूंगफली और गुड़ भी खिला सकते हैं या मूंगफली की चिक्कीनमकीन मूंगफलीमुंगफली चाट आदि टेस्टी व्यंजन भी बनाकर खिला सकते है |
  • हड्डियों की मजबूती : कैल्शियम और विटामिन डी का स्रोत होने से मूंगफली खाने से हड्डिया मजबूत होती है | अगर आप किसी कारणवश दूध नहीं पीते हो तो मूंगफली आपके लिए एक बेहतर ऑप्शन है |
  • खांसी : मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी हैइसके रोजाना सेवन से आमाशय और फेफड़ों को मजबूती मिलती है | अगर सर्दी के मौसम में मूंगफली खाएंगे तो शरीर गर्म रहेगा |
  • कोलेस्ट्रॉल : रोजाना मूंगफली खाने से कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है  और इसमें मौजूद तेल हार्ट फ्रेंडली होने से दिल की बीमारी होने का खतरा भी कम होता है |
  • खून की कमी : हर रोज खाना खाने के बाद 50 से 100 ग्राम मूंगफली अगर हम खाए तो इससे खाने का पाचन भी अच्छा होता हैसेहत भी बनती है और खून की कमी नही होती है |
  • कैंसर : मूंगफली में मौजूद तत्व त्वचा के कैंसर होने की संभावना को कम करते हैं |
  • रूखी त्वचा : सर्दियों में त्वचा में सूखापन आ जाता है इसीलिए हर रोज मूंगफली का तेलदूध और गुलाब जल मिलाकर त्वचा की मालिश करें और करीब 20 मिनट बाद नहाए | इससे त्वचा का रुखापन दूर हो कर त्वचा मुलायम होगी |
  • मुलायम होट : नहाने से पहले प्रतिदिन थोड़ा मूंगफली का तेल लेकर होठों पर कुछ देर मसाज करें | होंठ मुलायम रहेंगे |
  • विटामिन : प्रतिदिन 1 मुट्ठी मूंगफली खाना से आपके शरीर को प्रोटीनविटामिन K, E, B, कैलोरीज आदि पोषक तत्व मिलेंगे |
  • बढ़ती उम्र को रोके : ओमेगा 6 से युक्त मूंगफली त्वचा को मुलायम बनाए रखती है | इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे बारीक रेखाएं और झुर्रियों को जल्दी बनने से रोकता है |

मुंगफली खाते वक्त यह सावधानी ले Side-effects of Peanuts in Hindi

  • मूंगफली को हर उम्र के लोग खा सकते हैं अगर किसी को गैस की शिकायत होती हो तो उन्हें मूंगफली को भून कर खाना चाहिए |
  • मूंगफली को हमेशा छिलकों के साथ खाइए क्योंकि इस के छिलकों में भी विटामिंस का स्त्रोत रहता है |
  • मूंगफली को पानी में कम से कम 6 घंटे भिगोकर फिर खाना चाहिए ताकि उसमें के कुछ हानिकारक तत्व निकल सके जिसे आयुर्वेद में पित्त कहा जाता है | बिना भिगोई हुई मूंगफली खाने से कई बार अरुचि और त्वचा पर दाने निकल सकते हैं या किसी को एलर्जी हो सकती है |
  • मूंगफली को ऐसे ही या गुड के साथ या सब्जीखिचड़ीखीर आदि में डाल नित्य खाना चाहिए | यह वात विकारों को भी नष्ट करती है |
  • मूंगफली शरीर में गरमी करती है इसलिए पित्त प्रकृति के व्यक्ति को इसका सेवन सावधानी पूर्वक करना चाहिए | 
  • मूंगफली का जरूरत से ज्यादा सेवन कई बार एलर्जी लेकर आता है खासकर सेंसिटिव स्किन में , जैसे की शरीर पर चकत्तेगले और मुंह पर सूजन या अस्थमा जैसे लक्षण इसीलिए इस तरह के कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और मुंगफली का सेवन बंद करें |
  • तो यह है मूंगफली के अनमोल फायदे | शाकाहारी व्यक्ति मूंगफली खा कर अपनी प्रोटीन की जरूरत को काफी हद तक पूरा कर सकते हैं इसलिए मूंगफली खाये सेहत बनाए |
मूंगफली खाने के क्या फायदे है? Mungfali khane ke fayde aur nuksan मूंगफली खाने के क्या फायदे है? Mungfali khane ke fayde aur nuksan Reviewed by ADMIN on 23:06 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.