Email में CC और BCC का Full Form क्या होता है इसे कैसे इस्तेमाल करें?


आप ईमेल जरुर भेजते होंगे लेकिन क्या आपको पता है email में एडिशनल आप्शन में CC और BCC क्या कार्य करते है CC और BCC अतिरिक्त लोगो को ईमेल की Copies भेजने के दो अलग तरीके है इस पोस्ट में हम जानेंगे जीमेल से सम्बन्धित कुछ जरुरी टिप्स जो आपके लिए बहुत उपयोगी है |

CC aur BCC full form in Hindi

Gmail Kya hai
Gmail का मतलब Google Mail से है अर्थात् यह एक इलेक्ट्रॉनिक मेल सिस्टम है जो हमें किसी को भी ईमेल भेजने और प्राप्त करने की सुविधा देती है इसके लिए हमें किसी भी तरह का भुगतान नहीं करना होता यह पूरी तरह से फ्री सर्विस है

Email Recipients Terms Kya hai
किसी भी recipients को ईमेल भजने के मुख्य तीन तरीके होते है To, Cc और Bcc. by default हम फर्स्ट (To) को ही देख पाते है लेकिन अन्य दो (Cc और Bcc) पर क्लिक करके देख सकते है आप इन तीनो फील्ड में से चाहे वो कोई भी हो To, Cc, Bcc में एक से अधिक ईमेल भेज सकते हो और कॉमा देकर अलग कर सकते हो तो चलिए जानते है Cc और Bcc क्या होता है |

To Kya Hai
जब हम किसी recipients को ईमेल भेजते है तो To के स्थान पर हम उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस डालते है जिन्हें हम मेल भेजना चाहते है To में आप एक साथ कई लोगो को ईमेल कर सकते है लेकिन To, में आप जिन लोगो को ईमेल भेजते है वो एक दुसरे की ईमेल आई डी देख सकते है | अर्थात् उन लोगो को पता चल जाता है की आपने किन किन लोगो को ईमेल भेजा है |

Cc Kya hai
Cc का पूरा नाम Carbon copy है इसे Carbon copy के नाम से भी जाना जाता है To और Cc लगभग एक ही तरह काम करते है चाहे आप To फील्ड में चार ईमेल एड्रेस डालते है या To फील्ड में एक ईमेल एड्रेस और तीन Cc फील्ड में डालते है तो भी चारों लोगो को एक ही ईमेल प्राप्त होगा तथा वह To और Cc में एक दुसरे प्राप्तकर्ताओ का ईमेल एड्रेस भी देख सकते है Cc का इस्तेमाल अधिकतर एक से अधिक लोगो को ईमेल भेजने के लिए किया जाता है |  

Bcc Kya hai
Bcc का पूरा नाम Blind Carbon copy है Bcc, To और Cc से बिलकुल अलग है ये ईमेल का एक एडवांस फीचर है जब आप To और Cc पर ईमेल भेजते है तो Cc और To एक दुसरे के ईमेल एड्रेस को देख सकते है उदाहरण के लिए यदि आप एक ईमेल To, Techgyan@gmail.com और Cc में Hindigyan@gmail.com में भजते है तो techgyan और hindigyan दोनों जानते है की दोनों को एक साथ ईमेल प्राप्त हुआ है लेकिन Bcc में भेजा गए ईमेल एड्रेस को ना To प्राप्तकर्ता देख सकता है और नाहिं Cc प्राप्तकर्ता देख सकता है

उदाहरण के लिए, मान लीजिये कि आपका बॉस चाहता है कि आप शिकायत के जवाब में ग्राहक को ईमेल करें | आप ग्राहक के ईमेल एड्रेस To फील्ड में और अपने मालिक के ईमेल पते को Cc फ़ील्ड में डालते हैं, तो आपके बॉस को ईमेल की एक copy प्राप्त होगी | अगर आप नहीं चाहते कि ग्राहक आपके बॉस के ईमेल एड्रेस को देख सके, तो आप अपने बॉस के ईमेल एड्रेस को Bcc फील्ड में डाल सकते है जिससे कोई भी ग्राहक आपके ईमेल एड्रेस को नहीं देख पायेगा |

तो दोस्तों इस पोस्ट में हमने जाना Gmail kya hai. Cc or Bcc kya hai और कैसे काम करते है अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करे में आशा करता हूँ की आपके लिए इसी तरह की पोस्ट लता रहूँ अगर आप नयी पोस्ट की notification प्राप्त करना चाहते है तो हमारे वेबसाइट के newsletter सब्सक्राइब करें |
Email में CC और BCC का Full Form क्या होता है इसे कैसे इस्तेमाल करें? Email में CC और BCC का Full Form क्या होता है इसे कैसे इस्तेमाल करें? Reviewed by ADMIN on 00:17 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.