सेक्स हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। नियमित सेक्स के बिना, हमारे जीवन को नीरस हो जायेगा। हम दुखी होंगे और मूड स्विंग होगा। सेक्स कभी चोट नहीं करना चाहिए, अन्यथा, कामोन्माद आने वाला नहीं है। सेक्स एक प्राकृतिक और स्वस्थ गतिविधि है। मूल रूप से, सेक्स का अर्थ है यौन क्रिया, जिसमें आम तौर पर यौन सुख के लिए लिंग को योनि में डालना और जोर लगाना शामिल होता है।

Yoga poses to improve your sex life

पुरुषों और महिलाओं दोनों में सेक्स पोजीशन के बारे में अलग-अलग कल्पनाएँ हैं। इसलिए अलग-अलग सेक्स पोजीशन के बारे में गूगल पर कोशिश करना बहुत स्वाभाविक है। यही वह जगह है जहां हिंदी में अलग-अलग Sex Position in Hindi के बारे में यह लेख आपको शोध की परेशानी से बचाता है।

रोजाना आप एक घंटा योगा का अभ्यास करके अपने मस्तिक और शरीर के लगभग सभी फंक्शन को सही कर सकते हैं योगा आपके शरीर में सकारात्मक उर्जा का संचार करती है जिसे की आपके शरीर में स्वास्थ्य और नव उर्जा का संचार होता है यहाँ कुछ जरुरी योगा आसन बताये जायेंगे जो की आपकी शिघ्रपतन और मर्दाना कमजोरी की समस्या को जड़ से दूर कर देंगे| इनका रोजाना आपको कुछ देर अभ्यास करना होगा

 

यौन शक्ति बढ़ाने के सेक्स के लिए योग आसन- Sex Ke Aasan in Hindi

योग की मदद से सेक्सुअल समस्याओं (Sexual problems in hindi) को दूर किया जा सकता है।

1. वज्रोली क्रिया:

जब भी मूत्र त्याग करे तब एकदम से मूत्र को रोक ले .कुछ सेकेण्ड रोकें फिर नाड़ियों को ढीला छोड़ें और मूत्र निकलने दे पुनः रोके इस तरह मूत्र त्याग के दौरान कई बार इस क्रिया को करें | इस क्रिया के द्वारा नाड़ियों में शक्ति आएगी. 

फिर वीर्य के स्खलन को भी आप कंट्रोल कर सकेंगे | हमारा मस्तिष्क मूत्र त्याग व वीर्य स्खलन में भेद नही कर सकता यही कारण है कि इस क्रिया द्वारा स्खलन के समय में उसी अनुपात में बढ़ोत्तरी होती है जिस अनुपात में आप मूत्र त्याग के समय कंट्रोल कर लेते है |

Vajroli Mudra for Men

2. अश्विनी मुद्रा:

विधि: कगासन में बैठकर (टॉयलैट में बैठने जैसी अवस्था) गुदाद्वार को अंदर

‍खिंचकर मूलबंध की स्थिति में कुछ देर तक रहें और फिर ढीला कर दें। पुन:अंदर खिंचकर पुन: छोड़ दें। यह प्रक्रिया यथा संभव अनुसार करते रहें औरफिर कुछ देर आरामपूर्वक बैठ जाएं। विशेषयह क्रिया दिन में कई बार करें, एक बार में कम-से-कम 50 बार अश्वनी मुद्रा करें

ashwini mudra

लाभ :

1- इस मुद्रा के निंरतर अभ्यास से गुदा के सभी रोग ठीक हो जाते हैं।

2- शरीर में ताकत बढ़ती है तथा इस मुद्रा को करने से उम्र लंबी होती है।

3- माना जाता है कि इस मुद्रा से कुण्डलिनी का जागरण भी होता है।

4- यह मुद्रा शीघ्रपतन रोकने का अचूक इलाज है |

5- अश्वनी मुद्रा से नपुंसकता दूर होती है |

 

3. बाह्य कुम्भक:

विधि :

किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठकर पूरी शक्ति से श्वास को एक बार में ही बाहर निकल दें |श्वास को बाहर निकालकर मूलबंध (गुदा द्वार को संकुचित करें) और उड्डीयान बंध (पेट को यथाशक्ति अंदर सिकोड़ें) लगाकर आराम से जितनी देर रोकसकें,श्वास को बाहर ही रोककर रखें

जब श्वास अधिक समय तक बाहर न रुक सके तब बंधों को खोलकर धीरे-धीरे श्वासको अंदर भरें  यह एक चक्र पूरा हुआ |श्वास भीतर लेने के बाद बिना रोके पुनः बाहर निकालकर पहले की तरह बाहर हीरोककर रखें इस प्रकार 3 से २१ चक्र किये जा सकते है

बाह्य कुम्भक

लाभ:

1- इस प्राणायाम से मन की चंचलता दूर होकर वृत्ति निरोध होता है |

2- इससे बुद्धि सूक्ष्म एवं तीव्र होता है |

3- वीर्य स्थिर होकर स्वप्नदोष और शीघ्रपतन छुटकारा मिलता है |

सावधानी :

यह प्राणायाम प्रातः खाली पेट करें श्वास बाहर इतना नही रोकना चाहिए कि लेते समय झटके से श्वास अंदर जाए औरउखड़े हुए श्वास को 5-6 सामान्य श्वास लेकर ठीक करना पड़े प्राणायाम के 30 मिनट बाद ही कुछ खाएं और पियें|

 

4. कीगल एक्सरसाइज

विधि :

कीगल एक्सरसाइज करने के लिए आपको सबसे पहले इसे करने का सही तरीका पता होना चाहिए। इस एक्सरसाइज को आप घर के किसी भी कोने में कुर्सी या बेड पर बैठकर, लेटकर या खड़े होकर भी कर सकते हैं। कीगल एक्सरसाइज में जिन मांसपेशियों को सिकोड़ा जाता है, उनका प्रयोग हम यूरिन करते समय करते हैं।

कीगल एक्सरसाइज

1. ऐसे करें कीगल एक्सरसाइज

2. सबसे पहले अपने घुटनों को मोड़ें और बैठ जाएं।

3. अब ध्यान लगाएं और पेल्विक मांसपेशियों को पहले टाइट कर के उन्हें सिकोड़ें।

4. शुरुआत में पांच सेकेंड के लिए इन्हें सिकोड़ें और उसके बाद इतने ही समय आराम करें।

5. बाद में आप यह समय बढ़ा सकते हैं। दस से बीस बार इस व्यायाम को दोहराएं।

6. अगर आप लेट कर इस एक्सरसाइज को कर रहे हों, तो लेटकर घुटनों को मोड़ लें। इसके बाद इसे करें।

7. अगर खड़े हो कर कर रहे हैं, तो पैर को फैला लें और उसके बाद इस एक्सरसाइज को करें।

 

Tips for Sex Power Increase in Hindi - सेक्स पावर बढ़ाने के लिए बेस्ट हैं ये टिप्स

1. संभोग करने के तीन घंटे पूर्व अन्न और जल त्याग दें।

2. हर दम पेट साफ रखें।

 3. किशमिश और अखरोट खाएं।

4. प्रतिदिन प्रात: थोड़ी सी कसरत करें।

5. प्रतिदिन प्रात: 10 मिनट का ध्यान करें।

6. संभोग की प्रक्रिया शुरू करने के बाद बीच-बीच में रुकें और फिर शुरू करें।

7. फोरप्ले में ज्यादा वक्त गुजारे। सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी न करें।

8. सेक्स के समय मन में किसी तरह का भय, चिंता, घबराहट नहीं होना चाहिए।

 

हमें आशा है की आपके प्रश्न यौन शक्ति बढ़ाने के बेहतरीन घरेलु उपाय? का उत्तर इस लेख के माध्यम से दे पाएं।

इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी देना है न की हम किसी दवा, उपचार, घरेलु उपचार की सलाह देते है। आपको एक चिकिस्तक ही केवल अच्छा चिकिस्तक सुझाव दे सकता है क्योंकि उनसे अच्छा कोई दूसरा नहीं होता है। यौन शक्ति संबंधित समस्या के लिए Sexologist/Urologist से संपर्क करना चाहिए।

Read also

भुजंगासन कैसे करते है? 

गोमुखासन कैसे करते है? 

मंदुकासन कैसे करते है? 

चक्रासन कैसे करते है?

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.